Rahim Ke Dohe In Hindi | Including the meaning of the famous couplets of Rahimdas Ji |

Rahim Ke Dohe: Hello Guys, Rahimdas ji’s couplets have the meaning of life. Through his couplet, Rahim Das Ji has made life difficult.

His ethical couplet is still popular and famous today. Rahim Das Ji had equal respect for all the community.

Despite being a Muslim, he was well acquainted with Indian culture. He emphasized on Hindu-Muslim unity Rahim ke Dohe.

Rahim Ke Dohe
ABDUL RAHIM KHANKHANA

Life introduction of Rahim Das Ji – About Rahim in Hindi

What's In This Post

दुनियभर में प्रसिद्ध महाकवि रहीमदास जी का जन्म 17 दिसंबर 1556 को लाहौर, पाकिस्तान में हुआ था, रहीम दास जी का पूरा नाम अब्दुलरहीम ख़ान खाना (अब्दुल रहीम) था।

रहीम दास के अब्बू का नाम बैरम खान था, और उनकी अम्मी का नाम सुल्ताना बेगम था। रहीमदास के पिता बैरम खान मुग़ल सम्राट बादशाह अकबर के सरंक्षक थे।

बताया जाता हैं कि, रहीम दास जी का नाम भी महान बादशाह अकबर द्वारा ही किया गया था।

रहीम दास जी अपने बचपन से ही काफी ज्यादा प्रतिभा के धनी थे, और मध्यकालीन सामंतवादी संस्कृति के महान कवि भी थे।

रहीम दास जी की प्रतिभा का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता हैं कि के वह एक कुशल कूटनीतिज्ञ, सेनापति, प्रशासक, कवि, बहुभाषाविद, एवं कलाप्रेमी थे।

रहीमदास जी महान बादशाह अकबर के नवरत्नों में से एक मुख्य नवरत्न थे। उनकी कुछ काफी प्रसिद्ध रचनाएँ जोकि इस प्रकार से हैं, ‘नायिका भेद, रास पंचाध्यायी, मद्नाष्ट्क, बरवै, नगर शोभा, और रहीम दोहावली।

हम आपको ये भी बताना चाहेंगे की, रहीम दास जी ने बाबर की आत्मकथा ‘तुजके बाबरी’ का अनुवाद तुर्की भाषा से फारसी में किया था। रहीमदास की मृत्यु 1627ई में आगरा शहर में हुई थी।

रहीमदास जी एक मुस्लिम होते हुए भी, भारतीय संस्कृति से भलीभांति परिचित एवं बड़े विद्वान थे, वे धार्मिक सद्भावना और हिन्दू-मुस्लिम एकता में काफी यकीन रखते थे।

Life Introduction Of Rahim Das Ji.

Rahim Das was born on 17 December 1556.

His full name was Abdurrahim Khankhana.

His father Bairam Khan was a patron of Emperor Akbar.

Rahim Das Ji’s mother’s name was Sultan Begum.

He was one of the Navratno in the court of Emperor Akbar.

His main compositions are ‘Rahim Dohavali’,: Barwai ‘,’ Nayika Bhide ‘,’ Madnashtak ‘,’ Ras Panchadhyayi ‘and’ Nagar Shobha ‘etc.

He translated Babur’s autobiography ‘Tujake Babri’ in Persian into Persian. Rahim Das Ji died in 1627 AD in Agra.

Rahim Ke Dohe | Hindi & English

💬 जो रहीम उत्तम प्रकृति, का करी सकत कुसंग। चन्दन विष व्यापे नहीं, लिपटे रहत भुजंग।

अर्थ : रहीमदास जी कहते हैं कि जो अच्छे स्वभाव के मनुष्य होते हैं,उनको बुरी संगति भी बिगाड़ नहीं पाती। जिस प्रकार जहरीले सांप सुगंधित चन्दन के वृक्ष से लिपटे रहने पर भी उस पर कोई जहरीला प्रभाव नहीं डाल पाते।

2: 💬 रूठे सुजन मनाइए, जो रूठे सौ बार। रहिमन फिरि फिरि पोइए, टूटे मुक्ता हार ।

अर्थ : यदि आपका प्रिय (सज्जन व्यक्ति) सौ बार भी रूठे, तो भी रूठे हुए प्रिय को मनाना चाहिए । क्योंकि यदि मोतियों की माला टूट जाए तो उन मोतियों को बार बार धागे में पिरो लेना चाहिए। क्योकि मोतियों की माला हमेशा सभी के मन को भाती है ।

Mourn, make me swear, which is a hundred times.
Rahiman firi firi poise, broken Mukta necklace.

Meaning: If your beloved (a gentleman) was angry even a hundred times, then the beloved one should be celebrated. Because if the beads are broken, then those beads should be threaded again and again. Because the beads of beads are always pleasing to everyone’s mind.

3: खीरा सिर ते काटि के, मलियत लौंन लगाय।
रहिमन करुए मुखन को, चाहिए यही सजाय।

अर्थ : खीरे का कड़ुवापन दूर करने के लिए उसके ऊपरी सिरे को काटने के बाद नमक लगा कर घिसा जाता है। कड़ुवे मुंह वाले के लिए कटु वचन बोलने वाले के लिए यही सजा उचित है ।

Put the cucumber head on the side of the bow, but the mullet on it.
Rahim Karun Mukhen needs this decorating.

Meaning: To remove the bitterness of the cucumber, its top end is cut and rubbed with salt after cutting. This punishment is appropriate for the bitter mouthful who speaks bitter words.

4: दोनों रहिमन एक से, जों लों बोलत नाहिं ।
जान परत हैं काक पिक, रितु बसंत के माहिं ।

अर्थ : कौआ और कोयल रंग में एक समान होते हैं। जब तक ये बोलते नहीं तब तक इनकी पहचान नहीं हो पाती। लेकिन जब वसंत ऋतु आती है, तो कोयल की मधुर आवाज़ से दोनों का अंतर स्पष्ट हो जाता है ।

Both Rahim is from one, both speak Bolt Nahin.
Life is a cake, Ritu is in the spring.

Meaning: Crow and cuckoo are similar in color. They cannot be identified until they speak. But when spring comes, the difference between the two is made clear by the sweet voice of the cuckoo.

5: रहिमन अंसुवा नयन ढरि, जिय दुःख प्रगट करेइ।
जाहि निकारौ गेह ते, कस न भेद कहि देइ।

अर्थ : आंसू नयनों से बहकर मन का दुःख प्रकट कर देते हैं। सत्य ही है कि जिसे घर से निकाला जाएगा वह घर का भेद दूसरों से बता ही देता है ।

Rahiman Ansuva Nayan Dhari, Jiya expresses the sorrow.
Jahi nikarau geh te, kas na bhed kahi.

Meaning: The tears flow from the nines and express the grief of the mind. The truth is that the person who will be evicted from the house only tells the secret of the house to others.

6: वे रहीम नर धन्य हैं, पर उपकारी अंग ।
बांटन वारे को लगे, ज्यों मेंहदी को रंग ।

अर्थ :रहीम दास जी कहते है कि धन्य है वो लोग ,जिनका जीवन सदा परोपकार के लिए बीतता है, जिस तरह फूल बेचने वाले के हाथों में खुशबू रह जाती है । ठीक उसी प्रकार परोपकारियों का जीवन भी खुश्बू से महकता रहता है ।

Rahim says a man who obliges another is great.
Split the Vare, as color as henna.

Meaning: Rahim Das Ji says that blessed are those people, whose life is always spent for philanthropy, the way the flower seller has fragrance in his hands. In the same way, the life of philanthropists also smells fragrant.

7: रहिमन चुप हो बैठिये, देखि दिनन के फेर ।
जब नीके दिन आइहैं, बनत न लगिहैं देर ।

अर्थ :रहीम दास जी कहते है कि जब ख़राब समय चल रहा हो तो मौन रहना ही ठीक है। क्योंकि जब अच्छा समय आता हैं, तब काम बनते देर नहीं लगतीं । अतः हमेशा अपने सही समय का इंतजार करे ।

Rahiman sits silent, watch me turn.
When new days come, it does not get late.

Meaning: Rahim Das Ji says that it is okay to remain silent when bad times are going on. Because when the good time comes, the work is not delayed. So always wait for your right time.

Rahim Das Ke Dohe In Hindi & English.

8: मन मोटी अरु दूध रस, इनकी सहज सुभाय ।
फट जाये तो न मिले, कोटिन करो उपाय ।

अर्थ : रस, फूल, दूध, मन और मोती जब तक स्वाभाविक सामान्य रूप में है ,तब तक अच्छे लगते है ।
लेकिन यह एक बार टूट-फट जाए तो कितनी भी युक्तियां कर लो वो फिर से अपने स्वाभाविक और सामान्य रूप में नहीं आते ।

Mind thick Aru milk juice, their smooth smell.
If you get ripped off, do not find a solution.

Meaning: Juices, flowers, milk, mind, and pearls look good as long as the natural is in normal form.
But once it breaks, then do any number of tips, they do not come back in their natural and normal form.

9: बिगड़ी बात बने नहीं, लाख करो किन कोय ।रहिमन फाटे दूध को, मथे न माखन होय ।

अर्थ : रहीमदास कहते हैं कि मनुष्य को बुद्धिमानी से व्यवहार करना चाहिए । क्योंकि अगर किसी कारण से कुछ गलत हो जाता है, तो इसे सही करना मुश्किल होता है, क्योंकि एक बार दूध खराब हो जाये, तो हजार कोशिश कर ले उसमे से न तो मक्खन बनता है और न ही दूध ।

10: रहिमन मनहि लगाईं कै, देख लेहूँ किन कोय ।
नर को बस करिबो कहा, नारायण बस होय ।

अर्थ : रहीमदास जी कहते हैं कि यदि आप अपने मन को एकाग्रचित रखकर काम करेंगे, तो आप अवश्य ही सफलता प्राप्त कर लेंगे। उसीप्रकार मनुष्य भी एक मन से ईश्वर को चाहे तो वह ईश्वर को भी अपने वश में कर सकता है ।

Rahim is tempted, see who I am.
The man was simply called Karibo, Narayana was just ahoy.

Meaning: Rahimdas Ji says that if you work by keeping your mind focused, you will surely achieve success. Similarly, if a man wants God with one mind, then he can also subdue God.

11: जाल परे जल जात बहि, तजि मीनन को मोह।
रहिमन मछरी नीर को तऊ न छाँड़ति छोह।

अर्थ : इस दोहे में रहीम दास जी ने मछली के जल के प्रति घनिष्ट प्रेम को बताया है। मछली पकड़ने के लिए जब जाल पानी में डाला जाता है तो जाल पानी से बाहर खींचते ही जल उसी समय जाल से निकल जाता है। परन्तु मछली जल को छोड़ नहीं पाती । वह पानी से अलग होते ही मर जाती है।

Water beyond the trap, fascination to the throne.
Rahiman fisherman Neer should not be mistaken.

Meaning: In this couplet, Rahim Das Ji has expressed close love towards fish water. When the trap is put in the water for fishing, the water comes out of the trap at the

same time as the trap is pulled out of the water. But the fish cannot release water. She dies as soon as she is separated from the water.

12: Trees do not eat their own fruit, the ocean does not drink its own water.
Kahi interests on Kah Rahim, the property is illiterate.

Meaning: Just as trees never eat their fruit, the pond never drinks the water stored in it. Similarly, gentlemen also do good to others with their accumulated wealth.

तरुवर फल नहिं खात है, सरवर पियहि न पान ।
कहि रहीम पर काज हित, संपति सँचहि सुजान|

अर्थ :  जिस प्रकार पेड़ अपने फल को कभी नहीं खाते हैं, तालाब अपने अन्दर जमा किये हुए पानी को कभी नहीं पीता है। उसी प्रकार सज्जन व्यक्ति  भी अपना इकट्ठा किये हुए धन से दूसरों का भला करते हैं।

13: थोथे बादर क्वार के, ज्यों ‘रहीम’ घहरात ।
धनी पुरुष निर्धन भये, करैं पाछिली बात ।

अर्थ : जिस प्रकार क्वार के महीने में आकाश में घने बादल दीखते हैं पर बिना बारिश किये वो बस खाली गड़गड़ाने की आवाज़ करते हैं । उस प्रकार जब कोई अमीर व्यक्ति गरीब हो जाता है ,तो उसके मुख से बस अपनी पिछली बड़ी-बड़ी बातें ही सुनाई पड़ती हैं, जिनका कोई मूल्य नहीं होता।

Those bather Quar, as in Rahim.
Rich men are poor people, do the last thing

Meaning: Just like in the month of Quar, dense clouds appear in the sky, but without raining they simply make the sound of empty thunder. That way when a rich person becomes poor, only his last big things are heard from his mouth, which has no value.

14: रहिमन निज मन की व्यथा, मन में राखो गोय।
सुनि इठलैहैं लोग सब, बाटि न लैहै कोय।

अर्थ : रहीमदास जी इस दोहे में हमें अपने मन के दुख को अपने मन में ही रखना चाहिए । क्योंकि  दुनिया में कोई भी आपके दुख को बांटने वाला नहीं है। इस संसार में बस लोग दूसरों के दुख को जान कर उसका मजाक उड़ाना जानते हैं ।

Rahiman, the agony of the mind, the heart is gone.
People are everything, everyone is not waiting

Meaning: Rahimdas Ji, in this couplet we should keep the sorrow of our mind in our mind. Because nobody in the world is going to share your sorrow. In this world, people know knowing the sorrow of others and making fun of them.

15: एकै साधे सब सधै, सब साधे सब जाय ।
रहिमन मूलहिं सींचिबो, फूलै फलै अघाय।

अर्थ : इस दोहे में दो अर्थ दृष्टिगत है ,जिस प्रकार किसी पौधे के जड़ में पानी देने से वह अपने हर भाग तक पानी पहुंचा देता है । उसी प्रकार मनुष्य को भी एक ही भगवान की पूजा-आराधना करनी चाहिए । ऐसा करने से ही उस मनुष्य के सभी मनोरथ पूर्ण होंगे। दूसरा अर्थ यह है कि जिस प्रकार पौधे को जड़ से सींचने से ही फल फूल मिलते हैं । उसी प्रकार मनुष्य को भी एक ही समय में एक कार्य करना चाहिए ।  तभी उसके सभी कार्य सही तरीके से सफल हो पाएंगे।

Everyone is always sad, all are always
Rahiman Moolin Cinchibo, Phoolai Falai Abhay.

Meaning: There are two meanings in this couplet, the way a plant gives water to every part of it by giving water to its root. Similarly, the man should also worship the same God. By doing this, all the desires of that man will be fulfilled. The second meaning is that just as watering the plant from the root gets fruits. Similarly, human beings should also do one thing at a time. Only then all his works will be successful in the right way.

16: धनि रहीम जल पंक को लघु जिय पिअत अघाय ।
उदधि बड़ाई कौन हे, जगत पिआसो जाय।

अर्थ : रहीम दास जी इस दोहे में  कीचड़ का पानी बहुत ही धन्य है ।क्योंकि उसका पानी पीकर छोटे-मोटे कीड़े मकोड़े भी अपनी प्यास बुझाते हैं । परन्तु समुद्र में इतना जल का विशाल भंडार होने के पर भी क्या लाभ ? जिसके पानी से प्यास नहीं बुझ सकती है। यहाँ रहीम जी कुछ ऐसी तुलना कर रहे हैं ,जहाँ ऐसा व्यक्ति जो गरीब होने पर भी लोगों की मदद करता है । परन्तु एक ऐसा भी व्यक्ति , जिसके पास सब कुछ होने पर भी वह किसी की भी मदद नहीं करता है ।अर्थात परोपकारी व्यक्ति ही महान होता है।

Dhani Rahim Water Punk is short-lived.
Who is magnanimous, let the world be pierced.

Read Also:  Free Download For Android GTA San Andreas [Apk+OBB for 2020] ( ᵔ︠ ͜ʖ ︡ᵔ)

Meaning: Rahim Das Ji is very blessed with mud water in this couplet. But what is the benefit of having so much water in the sea? Whose water cannot quench thirst? Here Rahim Ji is making some comparisons where a person who helps people even when he is poor. But even a person who, despite having everything, does not help anyone. Ie a philanthropist is great.

Dohe In Hindi | Dohe In English |

17: बिगरी बात बनै नहीं, लाख करौ किन कोय ।
रहिमन फाटे दूध को, मथे न माखन होय.

अर्थ : रहीमदास जी इस दोहे में कहते हैं जिस प्रकार फटे हुए दूध को मथने से मक्खन नहीं निकलता है । उसी प्रकार प्रकार अगर कोई बात बिगड़ जाती है तो वह दोबारा नहीं बनती।

Don’t make a big deal, lakh Karou kin koy
Rahim torn milk, it should not be cooked.

Meaning: Rahimdas Ji says in this couplet, just like churning cracked milk does not remove butter. In the same way, if something goes wrong, it does not happen again.

18: रहिमन देखि बड़ेन को, लघु न दीजिए डारि ।
जहाँ काम आवे सुई, कहा करे तलवारि।

अर्थ : रहीमदास जी ने इस दोहे में बहुत ही अनमोल बात कही है। जिस जगह सुई से काम हो जाये वहां तलवार का कोई काम नहीं होता है। हमें समझना चाहिए कि हर बड़ी और छोटी वस्तुओं का अपना महत्व अपने जगहों पर होता है । बड़ों की तुलना में छोटो की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए ।

Look at Rahiman, do not give me a small Dari.
Where is the needle, where is the sword?

Meaning: Rahimdas Ji has said something very precious in this couplet. Where the needle is used, there is no work of the sword. We should understand that every big and small thing has its own importance. Chhoto should not be ignored compared to elders.

19: रहिमन निज संपति बिना, कोउ न बिपति सहाय ।
बिनु पानी ज्‍यों जलज को, नहिं रवि सकै बचाय।

अर्थ : रहीमदास जी इस दोहे में बहुत ही महत्वपूर्ण बात कह रहे है। जिस प्रकार बिना पानी के कमल के फूल को सूखने से कोई नहीं बचा सकता ।उसी प्रक्रार मुश्किल पड़ने पर स्वयं की संपत्ति ना होने पर कोई भी आपकी मदद नहीं कर सकता है। रहीम जी इस दोहे के माध्यम से संसार के लोगों को समझाना चाहते हैं की मनुष्य को अपनी संपत्ति का संचय करना चाहिए, ताकि मुसीबत में वह काम आये।

Without Rahiman personal property, ko na bipartite Sahay.
Without water, save Jalaj, not Ravi.

Meaning: Rahimdas Ji is saying very important things in this couplet. Just as no one can save the lotus flower from drying without water. No one can help you if you do not have your own property when it becomes difficult. Rahim Ji wants to convince the people of the world through this couplet that man should accumulate his wealth so that he can get in trouble.

20: रहिमन पानी राखिये, बिन पानी सब सून।
पानी गये न ऊबरे, मोती, मानुष, चून।

अर्थ : रहीम जी कहते हैं इस संसार में पानी के बिना सब कुछ बेकार है ।इसलिए पानी को हमें बचाए रखना चाहिए। पानी के बिना सब कुछ व्यर्थ है चाहे वह मनुष्य, जीव-जंतु हों या कोई वस्तु। ‘मोती’ के विषय में बताते हुए रहीम जी कहते हैं पानी के बिना मोती की चमक का कोई मूल्य नहीं है। ‘मानुष’ के सन्दर्भ में पानी का अर्थ मान-सम्मान या प्रतिष्ठा को बताते हुए उन्होंने कहा है जिस मनुष्य का सम्मान समाप्त हो जाये उसका जीवन व्यर्थ है।

Rahim says, value water, for there is nothing without it.
Water did not get bored, pearls, manus, chun.

Meaning: Rahim Ji says everything is useless in this world without water. That is why we should conserve water. Without water, everything is meaningless whether it is a human, animal, or anything. Speaking about ‘pearl’, Rahim Ji says that without water, the luster of pearl has no value. In the context of ‘Manush’, he has said that the meaning of water is respect, honor, or prestige.

21: रहिमन ओछे नरन सो, बैर भली न प्रीत ।
काटे चाटे स्वान के, दोउ भाँती विपरीत।

अर्थ: गिरे हुए लोगों से न तो दोस्ती अच्छी होती हैं, और न तो दुश्मनी. जैसे कुत्ता चाहे काटे या चाटे दोनों ही अच्छा नहीं होता ।

Rahiman Oche Naran So does not hate prey.
Bitten like the swan, unlike Dow.

Meaning: Neither friendship is good with fallen people, nor enmity. For example, whether a dog bites or licks is not good.

Last:

Last Words: If you like our post then please share with your friends on Whatsapp, Facebook and instagram. Rahim ke Dohe , Dohe in Hindi & Dohe in English.
Thanks guys for reading our post.

Leave a Comment